देशभर में लगा ट्रक और टैंकर का चक्का जाम: से लेकर सब्जियों तक के बढ़े दाम
News

देशभर में लगा ट्रक और टैंकर का चक्का जाम: से लेकर सब्जियों तक के बढ़े दाम

केंद्र सरकार के नए हिट और रन कानून से देशभर का माहौल गरमाया हुआ है हर जगह चक्का जाम करके लोग विरोध कर रहे हैं। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन का पारा भी चढ़ा हुआ है देश भर में ट्रांसपोर्ट सिस्टम थप देखने को मिल रहा है। ड्राइवरों ने ट्रक टैंकर और बसों को सड़क पर छोड़ दिया है नए कानून का देश भर में विरोध देखने को मिल रहा है।

देशभर में लगा ट्रक और टैंकर का चक्का जाम: से लेकर सब्जियों तक के बढ़े दाम

दिल्ली महाराष्ट्र मध्य प्रदेश राजस्थान छत्तीसगढ़ यूपी बिहार पंजाब गुजरात हिमाचल प्रदेश में हड़ताल ने असर दिखाना शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन का कहना है। कि ड्राइवर अपनी इच्छा से हड़ताल पर है ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन से जुड़े लोगों का कहना है कि देश में 95 लाख ट्रक टैंकर हैं इनमें से 30 लाख से ज्यादा ट्रक टैंकर की सेवाएं थप देखने को मिल रही हैं।
देशभर में लगा ट्रक और टैंकर का चक्का जाम: से लेकर सब्जियों तक के बढ़े दाम
ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन हड़ताल को लेकर मंगलवार को एक बैठक में फैसला लेगा हड़ताल के बाद कई शहरों में पेट्रोल पंपों को बंद करने की नौबत आ गई है वाहनों की लंबी कतारें लगी हैं। हर कोई अपने वाहनों का टैंक फुल करवाने में लगा हुआ है दूध सब्जियां दवाएं खाने पीने का सामान रसोई गैस और पेट्रोल डीजल की किल्लत प्रमुख तौर पर बढ़ने की संभावना हो गई है।
सब्जियों के दाम आसमान छूने लग गए हैं सब्जी बेचने वालों का कहना है कि बाहर से सप्लाई नहीं आ पा रही है ऐसे में दामों का बढ़ना स्वाभाविक है उन्होंने कहा कि जिन सब्जी व्यापारियों के निजी वाहन है। वो ही मंडियों तक पहुंच पा रहे हैं अभी दो दिन पहले तक तो मंडी के अंदर सारी पूर्ति पूरी हो रही थी और सब्जी बहुत मंदी थी क्योंकि सीजन चल रहा है सब्जी सब आ रही है।
लेकिन यह कल से जो ट्रकों की हड़ताल हुई है इससे बहुत ज्यादा असर पड़ रहा है जो बड़ी गाड़िया कहीं से भी नहीं आ रही है। छोटी गाड़िया तो एक दो चमक रही है तुम्हें ये भी तीन दिन पहली लोड हुई है। माल की बढ़ रही दाम के कारण फिलहाल ताजी सब्जियाँ के लिए कोई मंडी में नहीं आ रही है और धीरे-धीरे मंडी के अंदर सब्जी की शॉट होती जा रही है।
यदि ये टरको की हड़ताल पर सरकार ने जल्दी कोई चेते नहीं और इसको हड़ताल को नहीं खुलवाया तो यह जनता के लिए एक बहुत बड़े संकट बन जाएगा क्योंकि सब्जी के बिना और राशन के बिना काम नहीं चलता। खबरों के मुताबिक मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्कूल बसों से लेकर कैप सर्विस भी ठप देखने को मिल रही है। यही नहीं निजी एंबुलेंस भी इस हड़ताल में शामिल है दूसरी ओर ट्रक टैंकर और अन्य ड्राइवर्स का कहना है।
कि हादसे के बाद लोगों में नाराजगी देखने को मिलती है और लोग तोड़फोड़ हंगामा मारपीट और आग जनी तक पर उतारू हो जाते हैं ऐसे में अगर वह भीड़ के घेरे में आए तो उनकी जान पर बना सकती है। माल लाने में और बहुत दिक्कत हो रही है जो कानून बनाया है। कैसे करेंगे जिस तरीके से उन्होने कानून बनाया है अगर हम भाग जाते हैं जब पब्लिक होती है तो हमे भागना ही पड़ेगा नहीं तो पब्लिक हमें मार देगी।
अगर एक्सीडेंट करके कह रहे हैं ये एक्सीडेंट कोई जानबूझ के नहीं करता यह तो हो जाता हादसा हादसे में तो कुछ भी हो सकता था अगर वहां पर ड्राइवर रुक जाते हैं। तो ड्राइवर को पब्लिक मार देगी ना अब चलते चलते आपको यह भी समझा देते हैं कि आखिर यह विरोध प्रदर्शन इतना बढ़ा हुआ क्यों है दरअसल केंद्र की मोदी सरकार ने रोड रेज या हिट एंड रन करने वालों के खिलाफ कानून में बड़े बदलाव किए हैं।
 यह कानून जल्द ही लागू होने वाला है नए कानून के तहत अगर कोई व्यक्ति अगर किसी को हिट एंड रन कर देता है तो उसे 10 साल की सजा होगी और और ₹ लाख तक का जुर्माना किए जाने का प्रावधान है हालांकि मानवीयता दिखाने पर कुछ राहत का भी प्रावधान किया गया है अगर एक्सीडेंट करने वाला ड्राइवर घायल व्यक्ति को हॉस्पिटल तक पहुंचाता है तो उसकी सजा कम कर दी जाएगी।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हाय दोस्तों मेरा नाम हेमंत कुमार है, मैं एक ब्लॉग वेबसाईट चलता हूँ जिसमें हम आप लोगों को न्यूज के रिलेटेड इस ब्लॉग पर पोस्ट डालते हैं जैसे बिजनेस, इंटरटैनमेंट, फाइनैन्स, ट्रेंडीड, स्टोरी, जॉब और न्यूज इन सभी न्यूज के रिलिटेड हम इस वेबसाईट पर पोस्ट डालते है।