जम्मू कश्मीर में Aarmy का तेज ऑपरेशन, राजौरी में हुए आतंकी हमले
News

जम्मू कश्मीर में Aarmy का तेज ऑपरेशन, राजौरी में हुए आतंकी हमले

राजौरी में हुए आतंकी हमले से जुड़ी राजौरी में सेना के काफिले पर हमला करने वाले आतंकियों की तलाश में बहुत बड़ा सर्च ऑपरेशन जारी है सुरक्षा बल ने राजौरी और पंच जलो के कई इलाकों की गरे बंदी कर दी इस बीच आमी चीफ मनोज पांडे ने उन इलाकों का दौरा किया जहां यह सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है उन्होंने सेना के बड़े अधिकारियों के साथ अहम बैठक भी की और इस आतंकी घटना के बाद हालात का जायजा लेने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी बुधवार को राजौरी के दौरे जाएंगे सूत्रों के हवाले से खबर है।

जम्मू कश्मीर में Aarmy का तेज ऑपरेशन, राजौरी में हुए आतंकी हमले

कि 21 दिसंबर को हमला करने वाले सभी आतंकी पाकिस्तान की सेना के संपर्क में थे और उनकी तलाश में जारी अभियान को और तेज कर दिया गया 21 दिसंबर को सेना की गाड़ियों पर हमला करने के बाद भागे आतंकियों को पकड़ने के लिए लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है ना सिर्फ जमीन पर चप्पे-चप्पे की तलाशी ली जा रही है बल्कि सेना के हेलीकॉप्टरों के जरिए आसमान से भी उन्हें पकड़ने की मुहिम जारी है राजौरी और पुंज के कई इलाकों की घेरे बंदी कर दी गई है इस अभियान में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप स्पेशल फोर्स और सीआरपीएफ के जवानों को भी लगाया गया है।

 

जम्मूकश्मीर पुलिस भी इन जिलों में बसे गने जंगलों को खेर कर आतंकियों की तलाश में जुटी है और इस बीच सेना प्रमुख मनोज पांडे हालात का जायजा लेने के लिए राजौरी के डेरा की गली इलाके में पहु गए खबर है कि इस दौरान आर्मी चीफ को सेना के ऑपरेशन से जुड़ी तमाम जानकारियां दी गई इसी जगह पर 21 दिसंबर को आतंकियों ने सेना की दो गाड़ियों पर हमला कर दिया था उस हमले में चार जवान शहीद हो गए थे जबकि तीन घायल हुए थे और आतंकियों ने 21 दिसंबर को यह हमला उस वक्त किया था जब सेना के जवान पुंछ में सर्च ऑपरेशन के लिए जा रहे थे राजौरी के डेरा की गली इलाके में इस हमले को अंजाम देने के बाद सभी आ आतंकी भाग गए थे।

 

और उन आतंकियों की तलाश में पिछले पाच दिन से ऑपरेशन जारी है चार जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए सुरक्षा बल के जवान राजौरी और पुंछ में दिन रात जुटे हैं इससे पहले 21 दिसंबर को राजौरी में घात लगाकर बैठे आतंकियों ने सेना के काफिले पर हमला कर दिया था उस दिन आतंकियों ने सेना की दो गाड़ियों पर ताबड़ तोड़ गोलियां बरसाई थी जिससे सेना के जवान जवाबी कार्रवाई भी नहीं कर पाए थे आतंकियों का यह हमला राजौरी के थाना मंडी के डेरा की गली इलाके में हुआ था खबर है कि जिन दो गाड़ियों पर हमला किया गया था उनके जरिए जवानों को सुरन कोट से बफलियाज ले जाया जा रहा था।

 

क्योंकि वहां सेना पहले से ही आतंकियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही थी और उसी मुहिम में शामिल होने के के लिए सेना की दूसरी टीम को ले जाया जा रहा था बीच रास्ते में ही आतंकियों ने जवानों पर हमला कर दिया था और उस हमले में शहीद हुए जवानों का पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया राजौरी की घटना में यूपी के कानपुर के रहने वाले जवान करण यादव भी शहीद हो गए थे और उनका पार्थिव शरीर जैसे ही कानपुर लाया गया वहां मातम पसर गया शहीद करण यादव के छोटे भाई तो सेना की गाड़ी के आगे ही रो-रोकर जमीन पर गिर गए।

 

तुरंत ही पुलिस और सेना के दूसरे जवानों ने उन्हें ढांड सबंधाया इसके बाद शहीद करण यादव को सेना ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया और फिर हजारों लोगों की मौजूदगी में उनका अंतिम संस्कार हुआ इसी तरह उत्तराखंड के शहीद जवान गौतम सिंह का भी पार्थिव शरीर जब उत्तराखंड के कोर्ट द्वार लाया गया तो वहां का माहौल गम न हो गया सैकड़ों लोग उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए इस दौरान लोगों ने लगातार नारे भी लगाए राजौरी में हुए आतंकी हमले में देश के लिए सबसे बड़ा बलिदान देने वाले बिहार के गया के रहने वाले शहीद चंदन कुमार को भी श्रद्धांजलि दी गई उनका पार्थिव शरीर विमान से गया।

 

लाया गया इसके बाद गया एयरपोर्ट पर ही उन्हें भाव भीनी श्रद्धांजलि दी गई और इस बीच जम्मू कश्मीर के बारामुला में एक दिन पहले रिटायर्ड एसएसपी की हत्या पर जम्मू समेत कई जिलों में पाकिस्तान पर लोगों का गुस्सा भड़क गया आतंकियों ने पूर्व एसएसपी मोहम्मद शफी की हत्या उस वक्त कर दी थी जब वो मस्जिद में नमाज पढ़ रहे थे और इस हत्या को लेकर जम्मू कश्मीर में लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया इसकी एक तस्वीर जम्मू से भी सामने आई वहां शिवसेना के कई कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान का विरोध करते हुए।

 

इसे भी पढे: फ्रांस में क्यों रोका गया भारतीयों से भरा विमान यात्री हो गया तैनान की कब्जे में

इसे भी पढे: Indian Railways: अमृत भारत ट्रेन एक नऐ टेक्नोलॉजी से बनाई गई है, अमृत भारत की सुरक्षा

 

जोरदार प्रदर्शन किया इस दौरान उन्होंने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए पाकिस्तान के झंडे में आग लगा दी पाकिस्तान हाय हाय पाकिस्तान हाय हाय इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने आतंकियों की मदद करने वालों पर भी अपनी भड़ास निकाली बारामुला के रहने वाले रिटायर्ड एस एपी मोहम्मद शफी एक दिन पहले मस्जिद में नमाज पढ़ रहे थे तभी आतंकियों ने उन पर गोलियां चला दी जिससे उनकी मौत हो गई इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले आतंकियों की तलाश में सेना पूरे बारामुला में सर्च ऑपरेशन चला रही है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हाय दोस्तों मेरा नाम हेमंत कुमार है, मैं एक ब्लॉग वेबसाईट चलता हूँ जिसमें हम आप लोगों को न्यूज के रिलेटेड इस ब्लॉग पर पोस्ट डालते हैं जैसे बिजनेस, इंटरटैनमेंट, फाइनैन्स, ट्रेंडीड, स्टोरी, जॉब और न्यूज इन सभी न्यूज के रिलिटेड हम इस वेबसाईट पर पोस्ट डालते है।