आदित्य एल1 सोलर मिशन इसरो के आदित्य एल1 सन मिशन ने डिजाइन इतिहास बनाया
News

आदित्य एल1 सोलर मिशन इसरो के आदित्य एल1 सन मिशन ने डिजाइन इतिहास बनाया

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने एक और इतिहास रच दिया है भारत का सूर्य मिशन आदित्य एलव सफलता पूर्वक कक्षा में स्थापित हो चुका है पृथ्वी से करीब 15 लाख किलोमीटर की दूरी पर सूर्य पृथ्वी प्रणाली के लैंगेज प व जिसे एल1 भी कहा जाता है उसके करीब होलो ऑर्बिट में यह पहुंच चुका है आदित्य एलव को अपने ऑर्बिट तक पहुंचने में करीब 5 महीने का वक्त लगा है कुछ दिन पहले ही चंद्रयान तीन की शानदार सफलता के बाद इसरो ने अंतरिक्ष में एक और नया रिकॉर्ड बना दिया है।

 

आदित्य एल1 सोलर मिशन इसरो के आदित्य एल1 सन मिशन ने डिजाइन इतिहास बनाया

 

इसरो का आदित्य एलव सोलर एक्सप्लोरेशन मिशन की सफलता के बाद अब यह सूर्य का अध्ययन शुरू करेगा आदित्य एलव मिशन को इसरो के पीएसएलवी रॉकेट द्वारा सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्री हरिकोटा से लॉन्च किया गया था इस मिशन में करीब 400 करोड़ रुपए की लागत आई थी यह सूर्य का जो डायनामिक्स है सूर्य का जो वातावरण है उसके बारे में जानकारी वो हमारे सेने जो बेस स्टेशन है इजरो का उसके साथ साझा करने वाले हैं।

 

और यह जो जानकारी है यह जानकारी केवल भारत की दृष्टि से नहीं तो पूरे विश्व की दृष्टि से बहुत ही इंपॉर्टेंट इस तरह से होगी भारत का यह पहला ही सौर सोलर मिशन है क्या इसके फायदे भविष्य में हमें नजर आएंगे अगर ये सक्सेसफुल होता है जैसे मैंने कहा कि उसके ऊपर जो सात पेलोड्स लगे हैं उस पेलोड के माध्यम से जैसे हमने कहा कि आदित्य एलव उसको नाम दिया गया है एलव ये लगें जियन पॉइंट है।

 

कि जो सूर्य और पृथ्वी इनके बीच में यह एक ऐसा स्थान है कि जहां जिस पॉइंट पर यह वहां सतत स्थित रहेगा हमेशा ही सूर्य और पृथ्वी के बीच में का जो ग्रेविटेशनल जहा बैलेंस होता है पॉइंट तो यहां यह स्थित होके फिर वो सतत सूर्य को ऑब्जर्व करता रहेगा जिससे आप सभी हम सभी जानते हैं कि जो सूर्य है उस सूर्य के माध्यम से ही पृथ्वी के ऊपर जो जीव जीवन है जो लाइफ है वह पॉसिबल है तो सूर्य अनेकों माध्यमों से हमारा जो पृथ्वी है।

 

इस पृथ्वी के ऊपर उसका प्रभाव पड़ते रहता है तो यह इस माध्यम से या आदित्य यह जो स्पेस प्रोब है सोलर प्रोब है उसके माध्यम से हमें सतत उसके बारे में जानकारी मिलती रहेगी और सूर्य की वजह से पृथ्वी के ऊपर का जो एटमॉस्फियर है उसमें जो चेंजेज होते हैं उसकी बारीक जानकारी हमें पता चलेगी ताकि भविष्य के लिए अगर उसमें कुछ चेंजेज आते हैं तो उस उस चेंजेज को हम पहले ही भाप पाएंगे।

 

और उस तरह से हमारी पृथ्वी के ऊपर जो इंफॉर्मेशन है उस इंफॉर्मेशन के माध्यम से हम जो भी तया तैयारियां है भविष्य के लिए उसकी हम तैयारिया हम कर सकेंगे यह इसरो का अपने तरह का एक बड़ा और महत्वाकांक्षी मिशन है इसकी सफलता के साथ ही स्पेस साइंस की सोलर स्टडी में भारत अब एक अग्रणी देश बन गया है ऐसे में सोलर एक्टिविटीज की स्टडी और इससे जुड़ी महत्त्वपूर्ण जानकारियों को प्राप्त करने के लिए दुनिया के कई देश भारत पर आश्रित हो सकते हैं।

 

इसे भी पढे: भारतीय सेना का सफल ऑपरेशन: भारत ने दिखाई दुनिया को अपनी ताकत, लड़ाई को मिला सबक

 

आपको बता दें कि समय-समय पर सोलर रेडिएशन और सोलर तूफानों की वजह ज से पृथ्वी की कक्षा और कभी-कभी कुछ देशों के एटमॉस्फेयर पर इसका असर पड़ता है ऐसे में भारत सूर्य की ऐसी हलचल की नियमित स्टडी से संबंधित पूर्वानुमान कर पाने में सक्षम हो पाएगा इसरो के इस मिशन की चर्चा इस समय पूरी दुनिया में हो रही है इसरो के इस महत्वाकांक्षी मिशन पर एक बार फिर से दुनिया की निगाहें टिकी हैं।

 

इसरो अंतरिक्ष में बड़े से बड़े मिशन को बेहद सस्ते में सफल साबित कर अपना डंका बजवा रहा है आदित्य एलव को को ऑर्बिट में स्थापित करने के लिए श्री हरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से मिशन से जुड़े वैज्ञानिक कंट्रोल कर रहे थे इसे लेकर सभी की धड़कनें बेहद तेज थी इसके लिए कक्षा को और अधिक अंडाकार बनाया गया और बाद में अंतरिक्ष यान को ऑन बोर्ड प्रोपल्शन के जरिए लैंगेज पॉइंट ए1 की ओर प्रोजेक्ट किया गया।

 

 

इसकी सफलता के साथ ही सब खुशी से झूम उठे अल वन पॉइंट के चारों ओर होलो ऑर्बिट में रखे गए उपग्रह को बिना किसी ग्रहण के सूर्य को लगातार देख पाने का लाभ मिल सकता है इससे एक्चुअल टाइम में सोलर एक्टिविटीज और स्पेस वेदर पर इसके इफेक्ट को मॉनिटर करना संभव हो पाएगा दुनिया में यह बड़ा कारनामा करने वाले कुछ चुनिंदा देश ही हैं इनमें अब भारत का नाम भी गौरवशाली तरीके से शामिल हो चुका है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हाय दोस्तों मेरा नाम हेमंत कुमार है, मैं एक ब्लॉग वेबसाईट चलता हूँ जिसमें हम आप लोगों को न्यूज के रिलेटेड इस ब्लॉग पर पोस्ट डालते हैं जैसे बिजनेस, इंटरटैनमेंट, फाइनैन्स, ट्रेंडीड, स्टोरी, जॉब और न्यूज इन सभी न्यूज के रिलिटेड हम इस वेबसाईट पर पोस्ट डालते है।